हिन्दुस्तान में 1947 से पूर्व हिन्दू मुसलमान का विवाद नेताओं द्वारा पैदा किया गया उसका परिणाम 15 अगस्त 1947 को भारत तीन भागों में बाँटा गया । पाकिस्तान, पूर्वी पाकिस्तान ( बंगला देश ) मुसलमानो के लिये, तथा शेष भाग इंडिया ( भारत ) हिन्दुओं के लिये मिला । अर्थात दो देश, मुसलमानो के मिले शेष एक भाग हिन्दुओं को मिला । सैकुलर नेताओं द्वारा हिन्दुओं के साथ धोखा किया गया, इसी कारण शेष भाग भारत में मुसलमानों को रोक लिया गया और बंगला देश और पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं को भारत भेज दिया गया और शेष हिन्दुओं को मार दिया गया जबरदस्ती मुसलमान बनाया गया । यह सब इसलिये हुआ हिन्दू नेतृत्व का अभाव था या शक्तिहीन थे इसके कारण तथा कथित सैकुलर नेताओँ के कारण हिन्दुओं के साथ दोहरा धोखा हुआ |

हिन्दुस्तान में 1947 से पूर्व हिन्दू मुसलमान का विवाद नेताओं द्वारा पैदा किया गया उसका परिणाम 15 अगस्त 1947 को भारत तीन भागों में बाँटा गया । पाकिस्तान, पूर्वी पाकिस्तान ( बंगला देश ) मुसलमानो के लिये, तथा शेष भाग इंडिया ( भारत ) हिन्दुओं के लिये मिला । अर्थात दो देश, मुसलमानो के मिले शेष एक भाग हिन्दुओं को मिला । सैकुलर नेताओं द्वारा हिन्दुओं के साथ धोखा किया गया, इसी कारण शेष भाग भारत में मुसलमानों को रोक लिया गया और बंगला देश और पाकिस्तान में रह रहे हिन्दुओं को भारत भेज दिया गया और शेष हिन्दुओं को मार दिया गया जबरदस्ती मुसलमान बनाया गया । यह सब इसलिये हुआ हिन्दू नेतृत्व का अभाव था या शक्तिहीन थे इसके कारण तथा कथित सैकुलर नेताओँ के कारण हिन्दुओं के साथ दोहरा धोखा हुआ |